सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

नए वेरिएंट फैलने की आशंका : आश्रमों और गेस्ट हाउस में भी देना होगा अब कोरोना जांच का प्रमाणपत्र

  मथुरा / उत्तर प्रदेश के मथुरा जनपद में वृन्दावन शहर में दस विदेशी एवं एक देशी नागरिक के कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने सभी गेस्ट हाउसों एवं आश्रमों को कहा है कि वे अपने आने वाले हर देशी-विदेशी मेहमान का पूरा ब्योरा रखें और उनके पास कोरोना जांच का नेगेटिव प्रमाण पत्र होने के बाद ही उन्हें अपने यहां ठहराएं। गौरतलब है कि लंबे समय तक कोरोना वायरस का मामला नहीं आने के बाद बरती गई लापरवाही के बाद अब फिर से कोरोना संक्रमितों के मिलने का सिलसिला चल पड़ा है। वृन्दावन में पिछले सप्ताह से अब तक दस विदेशी एवं एक उड़ीसा की भारतीय नागरिक संक्रमित पाई जा चुकी है। तीन विदेशी जिला स्तर पर कोई सूचना दिए बिना यहां से लौट भी चुके हैं। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. रचना गुप्ता ने कहा है कि गेस्ट हाउस एवं आश्रम बाहर से आने वाले व्यक्तियों के रुकने से पूर्व उनके कोविड वैक्सीनेशन प्रमाणपत्र एवं कोविड-19 जांच रिपोर्ट प्राप्त कर ही उन्हें ठहराएं तथा ऐसा नहीं होने पर वे तत्काल स्वास्थ्य विभाग के नियंत्रण कक्ष को रिपोर्ट करें। उनके अनुसार नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। न

70 टीएमसी समर्थकों ने भाजपा नेता सुवेंदु अधिकारी के काफिले पर किया हमला

 


 पश्चिम बंगाल भाजपा नेता सुवेंदु अधिकारी के वकील ने सोमवार को मारिशदा पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई, जिसमें कहा गया कि करीब 70 टीएमसी समर्थकों ने अधिकारी के काफिले पर हमला किया। शिकायत में यह भी कहा गया है कि समर्थकों ने भाजपा नेता को गाली दी और जान से मारने की धमकी दी। अधिकारी कोंटाई से कोलकाता जा रहे थे।इस बीच, त्रिपुरा में कथित हिंसा को लेकर तृणमूल कांग्रेस की आलोचना करते हुए, भारतीय जनता पार्टी के सांसद लॉकेट चटर्जी ने सोमवार को कहा कि भाजपा "हिंसा से प्रेरित खेला होबे" के बजाय विकास होबे में विश्वास करती है। 

टीएमसी कार्यकर्ताओं के लिए खेला होबे का मतलब है 60 से अधिक कार्यकर्ता मार दिए जाते हैं, एक लाख से अधिक कार्यकर्ता बेरोजगार हो जाते है, महिलाओं के साथ सामूहिक बलात्कार, महिलाओं पर अत्याचार हुआ होना ही खेला होबे की परिभाषा है। अगर यह खेला होबे की परिभाषा है बंगाल, तो हम त्रिपुरा में ऐसा बिल्कुल नहीं होने देंगे। राजनीति में जीत-हार होती है, लेकिन गुंडागर्दी के लिए कोई जगह नहीं होती।टीएमसी विधायकों ने सोमवार को त्रिपुरा पुलिस पर हिंसा का आरोप लगाते हुए राष्ट्रीय राजधानी में विरोध प्रदर्शन किया। तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) की युवा नेता सायनी घोष को त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब की बैठक को कथित रूप से बाधित करने के कारण गिरफ्तार किए जाने के एक दिन बाद पार्टी महासचिव अभिषेक बनर्जी नगर निकाय चुनावों के लिए प्रचार करने के मकसद से सोमवार को यहां पहुंचे। इससे पहले, बनर्जी के आगमन से ठीक पहले अगरतला हवाई अड्डे पर एक संदिग्ध थैला मिला। 

बाद में उसे वहां से हटा दिया गया। बनर्जी 25 नवंबर को होने वाले नगर निकाय चुनाव के लिए पार्टी उम्मीदवारों के लिए प्रचार करेंगे। बनर्जी ने तृणमूल समर्थकों एवं कार्यकर्ताओं पर यहां रविवार को एक पुलिस थाने में ‘‘हमला किए जाने’’ की आलोचना करते हुए आरोप लगाया कि राज्य में कानून-व्यवस्था की स्थिति बुरी तरह चरमरा गई है।

टिप्पणियाँ

Popular Post

चित्र

बदायूं: बिसौली आरक्षित सीट को लेकर राजनीतिक दलों में गहन मंथन, भाजपा से सीट छीनने की फिराक में सपा आशुतोष मौर्य पर फिर खेल सकती है दांव