भाजपा की विचारधारा में नहीं ढल पाया मैं: यशपाल आर्य

 


  देहरादून / पूर्व कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य ने कांग्रेस में शामिल होने को दोबारा परिवार के साथ मिलन करार दिया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस मजबूत होगी तो लोकतंत्र जिंदा रहेगा। साथ ही यह भी कहा कि वह भाजपा की विचारधारा में ढल नहीं पाए। भाजपा से कांग्रेस में शामिल हुए यशपाल आर्य ने कहा कि आज का दिन उनके लिए बेहद महत्वपूर्ण है। वह अपने परिवार में दोबारा आ गए हैं। इससे सुखद दिन और सुखद अहसास उनके लिए कुछ और नहीं हो सकता। कांग्रेस से अपने जुड़ाव को याद करते हुए उन्होंने कहा कि उनके राजनीतिक जीवन की शुरुआत कांग्रेस से ही हुई है। कांग्रेस को स्थापित करना ही उनका धर्म और कर्म होगा।आर्य ने कहा कि वह भाजपा की विचारधारा में ढल नहीं पाए। हमेशा असहज महसूस करते रहे। वह लगातार जनता के लिए कार्य करते रहे हैं। कांग्रेस ही ऐसी पार्टी है जिसका त्याग और समर्पण का इतिहास है। कांग्रेस का मजबूत होना आवश्यक है। यशपाल आर्य ने अपने संबोधन में कांग्रेस की तारीफ तो की, लेकिन भाजपा के खिलाफ ज्यादा बोलने से बचे। उन्होंने कहा कि वह किसी रेस में नहीं हैं।

भाजपा में भी भावनात्मक रूप से कांग्रेसी रहे यशपाल: हरीश

उधर, पूर्व मुख्यमंत्री व प्रदेश कांग्रेस चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष हरीश रावत ने कहा कि यशपाल आर्य ने घर वापसी की है। वह भाजपा में जाने के बावजूद भावनात्मक रूप से कांग्रेसी रहे। उन्होंने माना कि भाजपा में लोकतंत्र नहीं है। आर्य के आने से राज्य में कांग्रेस को लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस अब नई ताकत के साथ भाजपा के प्रपंच का मुकाबला करेगी।

दिल्ली आवास पर आर्य का स्वागत

कांग्रेस में शामिल होने के बाद नई दिल्ली स्थित पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के आवास पर यशपाल आर्य का स्वागत किया गया। हरीश रावत की धर्मपत्नी रेणुका रावत ने तिलक लगाकर यशपाल आर्य और उनके विधायक बेटे संजीव आर्य का स्वागत किया।

राजीव भवन में मना जश्न

प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन में सोमवार को यशपाल आर्य की वापसी के साथ ही जश्न मनाया गया। पार्टी कार्यकर्त्‍ताओं ने मिठाई बांटी और आतिशबाजी की।

Comments