लखीमपुर खीरी : एक के बाद एक नेता कर रहे हैं इधर का रुख,थम नहीं रहा सियासी बवाल

 

 



नई दिल्ली  /  लखीमपुर खीरी मामले में सुप्रीम कोर्ट में आज सुनवाई होनी है। रविवार को जब तिकोनिया इलाके में गाडि़यों के काफिले से चार किसानों की मौत हो गई थी और इसके बाद हुई हिंसा में भी चार अन्‍य लोग मारे गए थे, तब से लेकर आज तक इस पर सियासी घमासान मचा हुआ है। एक के बाद एक विपक्षी पार्टियों के नेता पीडि़त परिवार से मिलने के लिए लखीमपुर पहुंच रहे हैं। कांग्रेस से प्रियंका और राहुल गांधी पहले ही पीडि़त परिवार से मिल चुके हैं। इस मामले में अब सुप्रीम कोर्ट में प्रधान न्यायाधीश एनवी रमना, जस्टिस सूर्यकांत और जस्टिस हिमा कोहली की पीठ सुनवाई कर रही है। जानें ताजा घटनाक्रम :-  

  • एएनआई के मुताबिक शिरोमणी अकाली दल का प्रतिनिधी मंडल लखनऊ पहुंचा है। यहां ये लोग लखीमपुर खीरी जाएंगे और पीडि़त परिवार से मुलाकात करेंगे। 
  • शिरोमणी अकाली दल की नेता हरसिमरत कौर ने कहा कि सरकार किसानों की बात नहीं सुन रही है। किसानों को मारा जा रहा है। हम किसानों के साथ खड़े हैं। 
  • सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है और उत्तर प्रदेश सरकार से शुक्रवार तक वहां के ताजा हालतों पर रिपोर्ट स्थिति रिपोर्ट मांगी है। कोर्ट ने राज्‍य सरकार से ये भी पूछा है कि अब तक किन लोगों की गिरफ्तारी हुई है। और किस-किस के खिलाफ एफआइआर हुई है। 
  • हिंसा में अपना बेटा गंवाने वाली मां के इलाज का तत्काल इंतजाम करने का निर्देश दिया गया।
  • उत्तर प्रदेश की एडीशनल एडवोकेट जनरल गरिमा प्रसाद से घटना पर कार्रवाई के बारे में पूछा।
  • कोर्ट को बतया गया है कि मामले की जांच के लिए एसआइटी गठित की गई है।
  • इलाहाबाद हाई कोर्ट के सेवानिवृत्त न्यायाधीश की अध्यक्षता में न्यायिक जांच आयोग गठित किया गया है।

Sources: जेएनएन