सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

त्रिपुरा हिंसा : सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और राज्‍य सरकार को दो हफ्ते के भीतर जवाब देने के दिए निर्देश

    नई दिल्‍ली /   सुप्रीम कोर्ट त्रिपुरा में हाल ही में हुई सांप्रदायिक हिंसा के मामले में राज्य पुलिस की कथित मिली-भगत और निष्क्रियता के आरोपों की स्वतंत्र जांच के लिए दाखिल याचिका पर सुनवाई के लिए सहमत हो गया है। सुप्रीम कोर्ट ने इस याचिका पर सोमवार को केंद्र और राज्य सरकार को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। न्यायमूर्ति डीवाई चन्द्रचूड़ और न्यायमूर्ति एएस बोपन्ना की पीठ ने सरकारों को दो हफ्ते के भीतर जवाब देने का निर्देश दिया है।  अधिवक्ता ई. हाशमी की ओर से दाखिल याचिका पर अधिवक्ता प्रशांत भूषण ने पैरवी की। उन्‍होंने सर्वोच्‍च अदालत से कहा कि वे हालिया साम्प्रदायिक दंगों की स्वतंत्र जांच चाहते हैं। इस मामले में अब दो हफ्ते बाद सुनवाई होगी। भूषण ने कहा कि सर्वोच्‍च अदालत के समक्ष त्रिपुरा के कई मामले लंबित हैं। पत्रकारों पर यूएपीए के आरोप लगाए गए हैं। यही नहीं कुछ वकीलों को नोटिस भेजा गया है। पुलिस ने हिंसा के मामले में कोई एफआइआर दर्ज नहीं की है। ऐसे में अदालत की निगरानी में इसकी जांच एक स्वतंत्र समिति से कराई जानी चाहिए। इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने याचिका की प्रति केंद्रीय एजेंसी और

देहरादून: फर्जी क्राइम ब्रांच का अधिकारी और पत्रकार बता स्पा सेंटर में घुस कर बनाया वीडियो, वायरल करने की धमकी देकर मांगे डेढ़ लाख



देहरादून /  उत्तराखण्ड की राजधानी देहरादून में आये दिन कोई न कोई नई वारदात सामने आती है इनमें फर्जीवाडा, ब्लैकमेंलिंग के मामलों में तेजी के साथ इजाफा हो रहा है। ऐसा ही एक मामला प्रकाश में आया है जहां खुद को साइबर ब्रांच का अधिकारी और पत्रकार बताकर दो युवक जबरन एक स्पा सेंटर में घुस गए। इसके बाद उन्होंने सेंटर का वीडियो बनाया और अब वीडियो को वायरल करने की धमकी देकर संचालिका से डेढ़ लाख रुपये की मांग कर रहे हैं। स्पा सेंटर की संचालिका के इस आरोप पर वसंत विहार थाना पुलिस ने दोनों आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। उनकी तलाश की जा रही है।

वसंत विहार थाने के इंस्पेक्टर देवेंद्र चौहान के अनुसार, शिकायतकर्ता राशि निवासी मेहूंवाला ने बताया कि उनका जीएमएस रोड पर सनसाइन स्पा के नाम से स्पा सेंटर है। उनका आरोप है कि इसी 21 अक्टूबर की शाम को जावेद मलिक और वीरेंद्र नाम के दो शख्स स्पा सेंटर में आए। जावेद ने खुद को पत्रकार और विरेंद्र ने दिल्ली पुलिस की साइबर ब्रांच का अधिकारी बताया।

स्पा सेंटर में घुसते ही वह गालीगलौज करने लगे और वीडियो बनाना शुरू कर दिया। इस घटना के वक्त राशि सेंटर में मौजूद नहीं थीं। वहां सिर्फ मोहित नाम का कर्मचारी था। इसके अगले दिन 22 अक्टूबर को जावेद व विरेंद्र दोबारा सेंटर में पहुंचे और स्पा सेंटर में बनाए गए वीडियो को वायरल करने की धमकी दी। वीडियो वायरल न करने के लिए डेढ़ लाख रुपये मांगे। रुपये नहीं देने पर सेंटर को सील करने के साथ जान से मारने की धमकी दी। इसके बाद आरोपितों ने दो दिन में 100 से अधिक बार फोन करके परेशान किया।

टिप्पणियाँ

Popular Post