सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

उत्तरकाशी: केसर की खुश्बू से महकी हर्षिल घाटी, खिल उठे काश्तकारों के चेहरे

सीमांत जनपद की हर्षिल घाटी रसीले सेबों और राजमा के उत्पादन के लिए जानी जाती है। केसर की खेती के लिए घाटी का मौसम व मिट्टी मुफीद होने के चलते कृषि विज्ञान केंद्र ने वर्ष 2018-19 में पहले ट्रायल के तौर पर किसानों को केसर के बीज दिए थे। इसके सकारात्मक परिणाम सामने आए।  हर्षिल घाटी में केसर उत्पादन की योजना परवान चढ़ती नजर आ रही है। योजना के तहत घाटी के पांच गांवों के काश्तकारों को केसर के बीज निशुल्क उपलब्ध कराए गए थे। इनमें से अधिकांश बीज अंकुरित हो गए हैं और उनपर फूल खिल गए हैं। ये देख काश्तकारों के चेहरे खिल गए हैं।  इसे देखते हुए इस वर्ष जिला प्रशासन व उद्यान विभाग ने जिला योजना 2021-22 से घाटी के सुक्की, झाला, मुखबा, पुराली व जसपुर गांवों के करीब 38 किसानों को केसर के बीज दिए थे। किसानों ने क्यारियां तैयार कर इन्हें खेतों में बोया। एक से डेढ़ महीने में ही इन पर फूल खिलने शुरू हो गए हैं। इससे काश्तकार उत्साहित हैं।  सुक्की गांव के किसान मोहन सिंह राणा ने बताया कि उन्हें 6 किलो बीज मिले थे, जो उन्होंने 22 सितंबर को बोए थे। एक महीने में ही इन पर फूल आने शुरू हो गए हैं। 15 अक्तू

फिर लौट रहा तालिबान का राज,जमाया आधे अफगानिस्तान पर कब्जा

 

 



अफगानिस्तान में अमेरिकी सैनिकों की वापसी के साथ ही तालिबानियों ने देश में अपना कब्जा करना शुरू कर दिया है। अब खुद अमेरिका ने भी यह बात स्वीकार की है कि अफगानिस्तान में तालिबान का पलड़ा भारी होता जा रहा है। अफगानिस्तान में तालिबानियों और सुरक्षाबलों के बीच जारी हिंसा के बीच अमेरिकी सेना के ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ के अध्यक्ष मार्क मिले ने बुधवार को कहा कि देश में लगभग आधे जिला मुख्यालय तालिबानी आतंकवादियों के कब्जे में जा चुके हैं। इससे एक बार फिर अफगानिस्तान में दिनोंदिन खराब होती सुरक्षा व्यवस्था को लेकर चिंता बढ़ गई है। उन्होंने कहा कि यह अफगानिस्तान की सुरक्षा, अफगानिस्तान सरकार और अफगानिस्तान के लोगों की इच्छाशक्ति एवं नेतृत्व की परीक्षा होगी।यूएस जनरल मिले ने कहा कि अफगानिस्तान के 419 जिला केंद्रों में से अब आधे केंद्रों पर तालिबान का कब्जा है और उसने अभी तक देश की 34 प्रांतीय राजधानियों में से किसी पर कब्जा नहीं किया है, लेकिन वह उनमें से लगभग आधी राजधानियों पर दबाव बना रहा है। उन्होंने कहा कि तालिबान अधिक क्षेत्र पर कब्जा कर रहा है और इस बीच अफगान सुरक्षा बल काबुल सहित प्रमुख जनसंख्या केंद्रों की सुरक्षा के लिए अपनी स्थिति मजबूत कर रहे हैं। मिले ने कहा, 'तालिबान ने छह, आठ, 10 महीनों के दौरान काफी बड़े क्षेत्र पर कब्जा कर लिया गया है, इसलिए तालिबान रणनीतिक गति हासिल करता दिख रहा है।उन्होंने बताया कि सिर्फ पिछले महीने ही तालिबान ने अफगानिस्तान के 81 जिला मुख्यालयों पर कब्जा किया है। इससे पहले अफगानिस्तान में मौजूद 15 डिप्लोमैटिक मिशनों और नाटो के प्रतिनिधि ने भी तालिबान से हिंसा रोकने की मांग की थी।पेंटागन ने कहा है कि अफगानिस्तान से अमेरिकी बलों की वापसी की प्रक्रिया 95 प्रतिशत पूरी हो चुकी है और यह 31 अगस्त तक पूरी हो जाएगी। मिले के साथ मौजूद अमेरिका के रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन ने कहा कि अमेरिकी सेना के प्रयास तालिबान पर नहीं, बल्कि आतंकवादी खतरों से निपटने पर केंद्रित होंगे। बता दें कि काबुल में दूतावास और एयरपोर्ट पर सुरक्षा में लगे जवानों के अलावा लगभग सारे अमेरिकी सैनिकों की वापसी पूरी हो चुकी है।

टिप्पणियाँ

Popular Post