आर.टी.पी.सी.आर नेगेटिव रिपोर्ट के बगैर नहीं मिलेगा मसूरी में प्रवेश

 


  एसडीएम कार्यालय में विभिन्न संगठनों के साथ कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर से निपटने को लेकर मंथन किया गया। इस दौरान निर्णय लिया गया कि पर्यटकों से आरटीपीसीआर या एंटीजन रिपोर्ट ली जाएगी। बिना रिपोर्ट किसी को नहीं आने दिया जाएगा। एसडीएम मनीष कुमार की अध्यक्षता में हुई बैठक में कहा गया कि कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए सभी संस्थाओं का सहयोग लिया जाएगा। लोगों में जागरूकता के साथ प्रशासन मसूरी टेज्डर्स एंड वेलफेयरए एसोसिएशन के साथ टीकाकरण के लिए लोगों को प्रेरित करेगा। एक जुलाई तक शहर में 99 प्रतिशत टीकाकरण किया जाएगा। मालरोड पर घूमते पर्यटकों के मास्क न लगाने पर सख्ती की जाएगी। एसडीएम ने कोतवाल राजीव रौथाण को निर्देश दिए कि वे इस मामले में और सख्ती करें, ताकि लोग मास्क पहनकर ही बाजार आएं। वहीं, पर्यटकों के आने पर बंद पड़े पर्यटक स्थलों को खुलवाने पर भी चर्चा की गई कि जब पर्यटक आ रहे हैं तो पर्यटक स्थल बंद होने से उन्हे भी निराशा हो रही है और वहां के लोग बेरोजगार हो गए हैं और लगातार दो साल से नुकसान झेल रहे हैं। इस पर शीघ्र निर्णय लिया जाएगा। जिन होटल-रेस्टोरेंटों में कोविड नियमों का पालन नहीं होगा, वहां कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इस बैठक में उत्तराखंड होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष संदीप साहनी, व्यापार संघ अध्यक्ष रजत अग्रवाल महामंत्री जगजीत कुकरेजा, नागेंद्र उनियाल, सलीम अहमद थे।