किसान आंदोलनः पाकिस्तानीआई.एस.आई कर सकती है हिंसा भड़काने की साजिश,खुफिया एजेंसियों का अलर्ट

  

 



नई दिल्ली / कृषि कानूनों के विरोध में प्रदर्शन कर रहे किसान आंदोलन को आज सात महीने पूरे हो गए हैं। इसको देखते हुए आज किसानों ने ट्रैक्टर रैली निकालने का ऐलान किया है। दिल्ली में ट्रैक्टर रैली के बीच खुफिया एजेंसियों ने दिल्ली पुलिस के साथ ही अन्य एजेंसियों को अलर्ट किया कि पाकिस्तान स्थित आईएसआई से जुड़े लोग किसान आंदोलन को निशाना बना सकते हैं। खुफिया एजेंसियों ने दिल्ली पुलिस और केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (CISF) को अलर्ट किया है इसकी वजह है कि पाकिस्तान स्थित इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस (ISI) किसान आंदोलन को नुकसान पहुंचाने की साजिश रच रहा है। खुफिया एजेंसियों के मुताबिक, ISI किसानों को भड़काकर हिंसा फैलाने की कोशिश भी कर सकता है।आज 26 जून को किसानों का देशव्यापी प्रदर्शन है। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, दिल्ली पुलिस और अन्य संबंधित एजेंसियों को इससे संबंधित एक पत्र भेजा गया है। पत्र मिलने के बाद दिल्ली पुलिस की ओर से पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। सुरक्षा के लिहाज से कुछ मेट्रो स्टेशन भी शनिवार को कुछ घंटों के लिए बंद रखा गया है। पत्र में उल्लेख किया गया है कि समर्पित और पर्याप्त सुरक्षा की मेट्रो स्टेशनों के बाहर तैनात की जाएगी।एहतियात के तौर पर और कानून-व्यवस्था की स्थिति में किसी भी तरह की गड़बड़ी से बचने के लिए, दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन ने शनिवार को तीन मेट्रो स्टेशनों- विश्वविद्यालय, सिविल लाइंस और विधानसभा को सुबह 10 बजे से दोपहर 2 बजे तक बंद रखने का फैसला किया है। दिल्ली पुलिस की सलाह पर यह कदम उठाया गया है, जिसने सुरक्षा के भी व्यापक इंतजाम किए हैं।आज दिल्ली के सीमावर्ती इलाकों में प्रदर्शन कर रहे किसानों के साथ कई किसान समूहों के भी शामिल होने की उम्मीद है।

 

Sources:एएनआइ