गर्मियों की छुट्टी के बाद स्कूल खुलेंगे ?

 


राज्य में गर्मियों की छुट्टियों के बाद स्कूलों को खोलने को लेकर शिक्षा विभाग सरकार के फैसले का इंतजार कर रहा है। जिनता जल्दी सरकार फैसला लेगी, उतना जल्दी जुलाई में स्कूलों को खोलना मुमकिन होगा।  कोरोना संक्रमण के बीच सुरक्षा इंतजाम करने के लिए कम से कम पंद्रह दिन के वक्त की दरकार है। फिलहाल जो सूरतेहाल है, उसमें एक जुलाई स्कूल खुलना नामुमकिन सा है। संपर्क करने पर शिक्षा सचिव आर. मीनाक्षीसुंदरम ने बताया कि कोरोना संक्रमण राज्य में कुछ कम हुआ है, लेकिन ऐहतियात रखना बेहद जरूरी है। कोरोना के लिए तय मानक सेनेटाईजेशन, सोशल डिस्टेसिंग आदि के साथ स्कूलों को तैयार करने के लिए कम से कम पंद्रह दिन का वक्त चाहिए होगा। उच्च स्तर पर जो भी निर्णय किया जाएगा, उसी के अनुसार आगे कार्यवाही की जाएगी। राज्य में स्कूलों में गर्मियों की छुट्िटयां तीस जून को पूरी हो रही हैं। 22 जून को विधानसभा में शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे की अध्यक्षता में हुई बैठक में स्कूलों को खोलने पर भी चर्चा की गई थी। सभी अधिकारियों ने एक मत से सिफारिश की कि स्कूलों को ज्यादा बंद रखना ठीक नहीं है। इससे पढ़ाई को नुकसान हो रहा है। गर्मियों की छु्टि्टयों के बाद जुलाई में स्कूलों को खोल दिया जाना चाहिए। यूपी में स्कूलों को शुरू करने का निर्णय किया जा चुका है।  शिक्षा मंत्री ने इस बाबत सीएम से वार्ता के बाद ही निर्णय लेने की बात कही थी।मामला बच्चों के स्वास्थ्य से जुड़ा होने की वजह से शिक्षा मंत्री अपने स्तर पर जल्दबाजी में फैसला लेने के पक्ष में नहीं है। उच्च स्तर पर और कैबिनेट स्तर पर सहमति बनने के बाद ही इस पर निर्णय किया जा सकता है। शिक्षा मंत्री का कहना है कि इस विषय पर जल्द ही तस्वीर साफ हो जाएगी।