सैलानियों से फिर गुलजार होंगे यूपी के पर्यटन स्‍थल, 16 जून से अनलॉक की तैयारी

यूपी के पर्यटन स्‍थल 16 जून से एक बार फिर सैलानियों से गुलजार होंगे। पर्यटन विभाग सरकार की गाइडलाइन के हिसाब से पर्यटन स्‍थलों को भी अनलॉक करने की तैयारी में जुट गया है। अधिकारियों का कहना है कि पर्यटन स्‍थल खुलेंगे जरूर लेकिन वहां हर किसी को कोरोना से बचाव के लिए प्रोटोकाल का सख्‍ती से पालन करना होगा। किसी इमारत में एक बार में सिर्फ 100 लोगों को ही जाने की इजाजत दी जाएगी। कोरोना की दूसरी लहर के चलते पिछले करीब दो महीने से प्रदेश में ठप पड़ी पर्यटन गतिविधियों के फिर से पटरी पर लौटने की उम्‍मीद अब बढ़ रही है। प्रदेश के सभी जिले अब दिन में पूरी तरह अनलॉक कर दिए गए हैं। इसी के साथ पर्यटन स्‍थलों को भी खोलने की तैयारी शुरू हो गई है। पर्यटन स्थलों को फिर से खोलने की कवायद के बीच इनके लिए नए नियम भी तय किए जा रहे हैं। ये नियम सरकार द्वारा अनलॉक के लिए जारी दिशानिर्देशों के तहत बन रहे हैं। कोरोना की पहली लहर के बाद पर्यटन केंद्रों को जिन शर्तों के साथ खोला गया था उन्‍हें फिर से लागू किया जा सकता है। इन शर्तों के साथ मिल सकती है इजाजत यूपी के पर्यटन स्‍थलों पर सैर के लिए सैलानियों को कुछ शर्तों के साथ इजाजत मिल सकती है। नए नियमों के तहत हो सकता है कि इन जगहों पर आम पर्यटकों और पर्यटकों के समूह के घूमने के लिए समय सीमा तय कर दी जाए। उन्‍हें एक से दो घंटे तक ही घूमने की इजाजत दी जाए। किसी इमारत में एक वक्‍त में अधिकतम सौ लोगों को ही प्रवेश देने जैसी कई शर्तें लागू की जा सकती हैं। पर्यटन स्थलों पर आने वाले लोगों को वहां मौजूद रहने वाले गाइड कोरोना से बचाव के लिए जागरूक करेंगे। आर्थिक संकट से गुजर रहा पर्यटन उद्योग कोरोना की वजह से पर्यटन गतिविधियां ठप होने के चलते पर्यटन से जुड़े लोगों आमदनी लगभग बंद हो गई है। बंदी के दौर में टूर एंड ट्रैवेल एजेंसियों, होटल, गाइड, इक्का-तांगा, कैफेटेरिया और रेस्तरां संचालकों की कमाई भी बिल्‍कुल ठप पड़ी है। इस बीच पर्यटन विभाग ने पर्यटन स्‍थलों को कोरोना संक्रमण से बचाव की शर्तों के साथ खोलने की तैयारी शुरू कर दी है।