केरल विधानसभा अध्यक्ष के खिलाफ सदन में अविश्वास प्रस्ताव पेश हुआ

 

 तिरुवनंतपुरम  / केरल विधानसभा अध्यक्ष पी श्रीरामकृष्णन पर डॉलर तस्करी के मामले में लगे आरोपों के मद्देनजर और सदन परिसर में हुई विभिन्न निर्माण गतिविधियों में अपव्यय को लेकर, उनके खिलाफ विपक्षी यूडीएफ ने बृहस्पतिवार को सदन में अविश्वास प्रस्ताव पेश किया। हालांकि सत्तारूढ़ वाम मोर्चे ने शुरुआत में तकनीकी कारणों का हवाला देते हुए प्रस्ताव पर आपत्ति जताई, लेकिन बाद में सदन ने मामले पर चर्चा करने का फैसला किया।प्रस्ताव को पेश किए जाने से पहले, श्रीरामकृष्णन ने अध्यक्ष के आसन से उठ कर चले गए और उपसभापति पी शशि ने कार्यवाही शुरू की। एम उम्मेर (आईयूएमएल) ने अध्यक्ष को हटाने के लिए प्रस्ताव पेश किया। उन्होंने कहा कि प्रस्ताव व्यक्तिगत या राजनीतिक कारणों से नहीं बल्कि सदन की गरिमा की रक्षा के लिए लाया गया है। उम्मेर ने कहा, अध्यक्ष के खिलाफ प्रतिदिन गंभीर आरोप लग रहे हैं। यह कहा जा रहा है कि वर्तमान विधानसभा सत्र की समाप्ति के बाद केंद्रीय एजेंसियां उनसे पूछताछ करेंगी। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि हाल ही में विधानसभा परिसर में किए गए विभिन्न निर्माण कार्य पारदर्शी नहीं थे।हालांकि, एस शर्मा (माकपा) ने यह कहते हुए प्रस्ताव पर कड़ी आपत्ति जताई कि यह विधानसभा के नियमों का उल्लंघन है। विधानसभा में भाजपा के एकमात्र सदस्य ओ राजगोपाल ने अध्यक्ष के खिलाफ कांग्रेस के नेतृत्व वाले यूडीएफ के अविश्वास प्रस्ताव का समर्थन किया। इस बीच, युवा कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने विधानसभा परिसर के बाहर प्रदर्शन के दौरान विधानसभा अध्यक्ष का पुतला जलाया।


Sources:Agency News