अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन को दलाई लामा ने दी बधाई

  

धर्मशाला (हिमाचल प्रदेश)  / तिब्बत के आध्यात्मिक नेता दलाई लामा ने जो बाइडेन को अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति बनने पर बधाई दी और तिब्बत के लोगों का लंबे समय से समर्थन करने के लिए उनका आभार व्यक्त किया। दलाई लामा ने भरोसा जताया कि बाइडेन एक शांतिपूर्ण दुनिया को आकार देने में योगदान देंगे, जिससे ‘‘भुखमरी, बीमारी और हिंसा’’ का सामना कर रहे लोगों को राहत मिलेगी। बाइडेन ने बुधवार को भारी सुरक्षा व्यवस्था के बीच ऐतिहासिक शपथ ग्रहण समारोह में अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति के तौर पर शपथ ली। उन्होंने देश को एकजुट करने का आह्वान किया। कमला देवी हैरिस ने देश की पहली महिला उपराष्ट्रपति के तौर पर शपथ ली।वाशिंगटन डीसी में कैपिटल बिल्डिंग (संसद भवन) में छह जनवरी को पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के समर्थकों के हिंसक उत्पात के बाद भारी सुरक्षा इंतजाम किए गए थे। अमेरिका के राष्ट्रपति को लिखे पत्र में दलाई लामा ने कहा, ‘‘ऐसे समय में जब हमारी धरती का पारिस्थितिक तंत्र संकट से जूझ रहा है, मुझे खुशी है कि आपने जलवायु परिवर्तन को अपनी प्राथमिकता में शामिल किया और पेरिस जलवायु समझौते में देश को फिर से जोड़ने का फैसला किया। जलवायु परिवर्तन समूची दुनिया और समस्त प्रजाति के लिए एक गंभीर खतरा है जिस पर तुरंत कदम उठाने की जरूरत है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘अमेरिका की बेहतरी की दिशा में आपके द्वारा उठाए गए कदम की सराहना करता हूं। मैं आपके देश, वहां लोगों को मिली आजादी, लोकतंत्र, धार्मिक स्वतंत्रता और वहां कायम कानून के राज का प्रशंसक रहा हूं। पूरे विश्व को अमेरिका के लोकतांत्रिक दृष्टकोण और नेतृत्व से उम्मीदे हैं।’’पत्र में उन्होंने लिखा, ‘‘ऐसे चुनौतिपूर्ण वक्त में मुझे भरोसा है कि आप एक शांतिपूर्ण दुनिया को आकार देने में योगदान देंगे जिसमें ‘‘भुखमरी, बीमारी और हिंसा’’ का सामना कर रहे लोगों को राहत मिलेगी। इन मुद्दों का समाधान किए जाने की जरूरत है।’’ दलाई लामा ने कहा, ‘‘लंबे समय से तिब्बत के लोगों का समर्थन करने के लिए मैं आपका आभार प्रकट करता हूं। यह हमारा सौभाग्य है कि हमारी बौद्ध संस्कृति, शांति, अहिंसा और करुणा की हमारी संस्कृति की रक्षा के प्रयास में अमेरिका, अमेरिकी लोगों तथा वहां के नेताओं का भरपूर सहयोग मिला।


Sources:Agency News