पलायन पर रोक लगाने में विफल रही अबतक की सरकारें-एसएस कलेर

 

देहरादून / आम आदमी पार्टी (आप) के प्रदेश अध्यक्ष एसएस कलेर ने लगातार बढ़ते पलायन पर चिंता जाहिर करते हुए अब तक की भाजपा और कांग्रेस की सरकारों को इसका जिम्मेदार बताया है। उन्होंने कहा कि भाजपा-कांग्रेस को सिर्फ सरकार बनाने से मतलब रहा, लेकिन कभी भी उन्होंने सूबे के विकास के बारे में नहीं सोचा। पहाड़ों में मूलभूत सुविधाओं के अभाव में पिछले दस साल में पांच लाख से अधिक लोग पलायन कर चुके हैं, लेकिन यहां की सरकारें अपना राग अलाप रही हैं।आप प्रदेश अध्यक्ष एसएस कलेर ने सोमवार को प्रेस को जारी बयान में कहा कि अब तक की सभी सरकारें पलायन को रोकने में नाकाम रही है। उन्होंने कहा कि मैदानी क्षेत्रों में बढ़ रही आबादी और खाली होते पहाड़ आने वाले समय में प्रदेश की तस्वीर और पहचान दोनों ही बदल देंगे। उन्होंने आरटीआइ का जिक्र करते हुए कहा कि ये बड़े दुर्भाग्य की बात है कि पिछले 10 सालों में हमारे प्रदेश में 502707 लोग पलायन कर चुके हैं, यह सिलसिला अभी भी जारी है। प्रदेश के 734 गांव खाली हो गए हैं। उन्होंने आरटीआइ का हवाला देते हुए कहा कि 3946 लोग स्थायी रूप से अपनी जमीनों को छोड़कर पलायन कर चुके हैं, यानी कि ये गांव भी खाली होने की श्रेणी में आ गए हैं। प्रदेश के 6338 गांवों के कुल 118961 लोग हमेशा के लिए पलायन कर चुके हैं, जबकि 383726 लोग बेहतर सुविधाओं के लिए पलायन कर गए हैं, लेकिन अपने पैत्रिक गांव आते जाते हैं।आज पहाड़ों में स्कूल, अस्पताल, सड़कें तो जरूर बना दी गई हैं, लेकिन न तो वहां डॉक्टर है और न ही शिक्षक हैं। आज भी पहाड़ों में महिलाओं को प्रसव करवाने दूर किसी सीएचसी में ले जाना पड़ता है। अब पलायन पर गंभीर नहीं हुए तो आने वाला समय पहाड़ों के लिए किसी विनाश से कम नहीं होगा।


Sources:JNN