सरकार के साथ बातचीत से पहले किसान नेता राकेश टिकैत बोले, अगर मांगें पूरी नहीं होती तो आंदोलन चलेगा

 

नयी दिल्ली  / केंद्रीय कृषि कानूनों को लेकर किसान संघों के साथ सरकार सोमवार की दोपहर आठवें दौर की चर्चा करेगी। इस बातचीत से पहले भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत का बयान सामने आया है। उन्होंने बातचीत से पहले किसानों की मागों को स्पष्ट किया है। उन्होंने कहा है कि सरकार के साथ बातचीत के दौरान हमारा एजेंडा साफ रहेगा। हम स्वामीनाथन कमेटी की रिपोर्ट, कृषि कानूनों की वापसी और न्यूनतम समर्थन मूल्य पर कानून को लेकर बातचीत करेंगे। 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, राकेश टिकैत ने यह भी कहा कि केंद्र सरकार को तमाम मसलों पर जवाब देना होगा। अबतक हमारे 60 किसान भाई शहीद हो चुके हैं। वहीं, एएनआई के साथ बातचीत में राकेश टिकैत ने उम्मीद जताई कि सरकार हमारी बात मान लेगी। अगर ऐसा नहीं हुआ तो हमारा आंदोलन जारी रहेगा। उल्लेखनीय है कि सातवें दौर की बातचीत में चार में से दो मुद्दों पर सहमति बन गई थी। लेकिन दो अहम मसलों पर सहमति नहीं बन पाई थी। बैठक के बाद केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने बताया था कि चार विषयों में से दो मुद्दों पर पारस्परिक सहमति के बाद 50 प्रतिशत समाधान हो गया है और शेष दो मुद्दों पर चार जनवरी को चर्चा होगी। तोमर ने बताया था कि तीन कृषि कानूनों और एमएसपी पर चर्चा जारी है तथा चार जनवरी को अगले दौर की वार्ता में यह जारी रहेगी।

उम्मीद है कि सरकार बात मान ले, अगर मांगें पूरी नहीं होती तो आंदोलन चलेगा: आज सरकार के साथ होने वाली बैठक पर राकेश टिकैत, भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता #FarmersProtest

Sources:Agency News