नये साल के जश्न से रोक हटी, इन गाइडलाइन्स का करना होगा पालन

 

 

दून और मसूरी नये साल के जश्न के लिए तैयार है। होटलों में बुकिंग लगभग फुल हो चुकी हैं। वहीं पर्यटक स्थलों पर तमाम तैयारियां पूरी है। प्रशासन एवं पुलिस ने भी अपनी व्यवस्थाएं दुरुस्त कर ली है। देहरादून में मालसी स्थित जू, सहस्त्रधारा, मालदेवता, मसूरी रोड, वन पार्क, आनंद वन आदि में पर्यटकों के स्वागत के लिए बेहतरीन तैयारी की गई है। हालांकि इस बार होटलों में डीजे पर जश्न नहीं मनेगा, लेकिन फिर रंग बिरंगी लाइटों का इंतजाम किया गया है। 

पर्यटकों एवं होटल कारोबारियों के लिए अच्छी खबर है। पर्यटक अब होटलों में नये साल का जश्न मना सकेंगे। लेकिन डीजे बजाने पर पाबंदी रहेगी। डीएम डा. आशीष श्रीवास्तव ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिये हैं। जिन्होंने नये साल के लिए पूर्व से कमरे बुक किये हैं, उन्हें ही केवल सादे कार्यक्रम करने की अनुमति होगी। 

डीएम ने मंगलवार को आदेश जारी किया। जिसमें कहा गया कि 22 दिसंबर को जारी आदेश में क्रिसमस एवं नये साल के मौके पर होटल, रेस्टोरेंटों में सार्वजनिक कार्यक्रमों में रोक लगाई थी। जिसमें आंशिक संशोधन किया गया है। जिसके तहत पहले से नये साल के लिए जिन पर्यटकों ने होटल में बुकिंग कराई है। वह सादे कार्यक्रम आयोजित कर सकेंगे। डीएम ने कहा कि पुलिस एवं प्रशासन की टीमें लगातार होटलों में दौरा करेगी। नियमों का उल्लंघन होने पर आपदा अधिनियम के तहत कार्रवाई की जाएगी। 

पुलिस की व्यवस्था दुरुस्त 
पुलिस ने नये साल के लिए यातायात प्लान जारी कर दिया है। एसपी ट्रेफिक प्रकाश चंद्र आर्य कहते है कि तमाम रूटों पर व्यवस्था देख ली गई है। कुठालगेट एवं आशारोडी, रिस्पना समेत तमाम जगहों पर फोर्स तैनात रहेगी। वहीं पर्यटक स्थलों पर पार्किंग की विशेष व्यवस्था की गई है। जिससे लोगों को दिक्कतों का सामना न करना पड़े। 

प्रशासन एवं हिन्दुस्तान का आभार जताया 
दून वैली होटल एसो. के महामंत्री पंकज भाटिया ने होटलों में कार्यक्रम आयोजन की अनुमति देने के बाद प्रशासन एवं हिन्दुस्तान समाचार पत्र का आभार जताया है। उन्होंने कहा कि कोरोनाकाल में होटल इंडस्ट्री बुरी तरह टूट गई। लागत भी नहीं निकल पा रही। कर्मचारियों का वेतन घर से देना पड़ रहा था।

वहीं लाखों का नुकसान हो रहा है। अब रविवार की बंदी एवं क्रिसमस एवं नये साल पर पाबंदी ने उन्हें नुकसान पहुंचाया। नये साल पर पांबदी रहती तो बड़ा नुकसान झेलना पड़ता, क्योंकि सभी की एडवांस बुकिंग हो गई थी। कहा कि हिन्दुस्तान ने उनकी आवाज को प्रमुखता से उठाया। जिस पर जिला प्रशासन ने संज्ञान लिया। उन्होंने डीएम डा. आशीष श्रीवास्तव का आभार जताया। 


Sources:hindustan Samachar