ट्रंप और बाइडेन में कांटे की टक्‍कर, शुरूआती रुझानों में डेमोक्रेटिक पार्टी को बढ़त

 



कोविड-19 महामारी के प्रकोप के बीच करीब 10 करोड़ अमेरिकी पूर्व-मतदान में अपना वोट डाल चुके हैं और माना जा रहा है कि देश के एक सदी के इतिहास में इस बार सर्वाधिक मतदान हो सकता है। इस साल करीब 23.9 करोड़ लोग मताधिकार के योग्य हैं।



 


अमेरिका में किसका राज होगा, इसको लेकर सरगर्मियां बढ़ी हुई है। कांटे के मुकाबले में वर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप डेमोक्रेटिक पार्टी के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जो बिडेन से पीछे चल रहे हैं। सबकी नजर इसी बात पर है कि आखिर अमेरिका का 46 वा राष्ट्रपति कौन बनता है। अमेरिका में रुझानों का रुख तेजी से बदल रहा है। शुरुआती रुझान में बाइडेन 209 और ट्रंप 112 ‘इलेक्टोरल कॉलेज वोट’ जीत चुके हैं। ट्रम्प ने टेनेसी, वेस्ट वर्जीनिया, ओक्लाहोमा, केंटकी और इंडियाना के अलावा अरकंसास में जीत हासिल की है। वहीं जो बिडेनम ने मेसाचुसेट्स, न्यू जर्सी, मैरीलैंड, डर्मोंट के अलावा न्यूयॉर्क में जीत दर्ज की है। जो बिडेन ने इलिनॉयस से भी जीत दर्ज की है।


वहीं देश के कुछ अन्य हिस्सों के राज्यों में मतगणना देर शाम मतदान समाप्त होने के बाद शुरू हुई है। व्हाइट हाउस में बाइडेन और ट्रंप में से जो भी पहुंचेगा, उसे 538 ‘इलेक्टोरल कॉलेज वोट’ में से कम से कम 270 में जीत दर्ज करनी होगी। विशेषज्ञों के अनुसार बाइडेन की जीत की अपार संभावनाएं हैं जबकि ट्रंप की संभावनाएं कम हैं। दोबारा राष्ट्रपति चुने जाने के लिए मशक्कत कर रहे ट्रंप ने एक ट्वीट में परिणाम को लेकर विश्वास जताते हुए लिखा, ‘‘हम पूरे देश में वास्तव में कुछ अच्छा देख रहे हैं। शुक्रिया।’’

वह व्हाइट हाउस से परिणामों पर नजर रख रहे हैं। इसके लिए व्हाइट हाउस के ईस्ट रूम में आयोजित कार्यक्रम में उन्होंने करीब 250 चुनिंदा मेहमानों को आमंत्रित किया है। विशेषज्ञों के अनुसार नॉर्थ कैरोलाइना, ओहायो और पेनसिल्वेनिया की भूमिका नतीजों में अहम हो सकती है। ट्रंप को इन तीनों राज्यों में जीत दर्ज करनी होगी, वहीं बाइडेन इनमें से किसी भी एक राज्य में जीत दर्ज कर राष्ट्रपति पद पर पहुंच सकते हैं।




































Source:Agency News





 




 




 



 



 




 


 

 

 
























 


1








 


 








 


1