लालू परिवार पर बरसे नीतीश कुमार, कहा- पति-पत्नी के राज में रोज होती थी आपराधिक घटनाएं


नीतीश कुमार ने कहा कि अगर उन्हें फिर मौका मिला तो वह‘सात निश्चय द्वितीय चरण’ के तहत जन कल्याण के कार्यो को आगे बढ़ायेंगे। उन्होंने कहा कि हमने पहले ही कहा है कि हर खेत तक पानी पहुंचाएंगे और इस बार मौका मिलेगा तो निश्चित ही हर खेत तक सिंचाई के लिए पानी पहुंचा देंगे।



ईमामगंज /ओबरा / विपक्ष पर ‘काम करने की आदत और समझ नहीं’ होने का आरोप लगाते हुए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शु्क्रवार को दावा किया कि पिछले 15 वर्ष में उनकी सरकार ने सड़क, स्वास्थ्य, बिजली सहित हर क्षेत्र में विकास किया और राज्य की स्थिति पहले से काफी बदली है। गया के ईमामगंज और औरंगाबाद के ओबरा में चुनावी रैलियों को संबोधित करते हुए नीतीश कुमार ने कहा, ‘‘ 15 साल से हमें काम करने का मौका मिला। हमने हर क्षेत्र में काम और विकास किया है, चाहे सड़क हो, शिक्षा हो, स्वास्थ्य हो, बिजली हो, पानी हो। हर बार कुछ ज्यादा करने की कोशिश की है।’’ लालू यादव पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि हमसे पहले पति-पत्नी को राज करने का मौका मिला लेकिन पहले कानून का राज नहीं था और आपराधिक घटनाएं होती थी। उन्होंने कहा, ‘‘ पहले जो स्थिति थी और आज जो स्थिति है..... उसमें बहुत अंतर है। ’’


विपक्ष पर निशाना साधते हुए बिहार के मुख्यमंत्री ने कहा कि जिसको कोई काम करने की आदत नहीं है, न ही कोई समझ है, वे कुछ भी बोलते रहते है। कुमार ने विपक्ष द्वारा की जा रही अपनी आलोचनाओं को कोई तव्वजो न देते हुए कहा कि उनके ऊपर बोलने से किसी को प्रचार मिलता है तो वे ऐसा करते रहें। अपनी सरकार के कार्यो का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि हमने बिहार का बहुमुखी विकास किया है और प्रति व्यक्ति आमदनी में साढ़े दस प्रतिशत की सालाना वृद्धि हुई है। उन्होंने कहा, ‘‘ हमने कहा था कि न्याय के साथ विकास, हर वर्ग का विकास, हर क्षेत्र का विकास और हमने वह किया है। ’’ कुमार ने राज्य में महिलाओं के सशक्तिकरण के कार्यो का उल्लेख करते हुए कहा कि हमने उन्हें आरक्षण दिया और आज पंचायती राज में महिला जनप्रतिनिधि बनी हैं। उन्होंने कहा कि पहले बिहार पुलिस बल में महिलाएं न के बराबर थीं और आज बिहार पुलिस बल में जितनी महिला पुलिसकर्मी हैं, शायद ही देश के किसी राज्य में होंगी। उन्होंने कहा कि हर तबके हर समुदाय को हमने विकास की मुख्यधारा से जोड़ा है और महिलाओं समेत हर वर्ग के उत्थान के लिए हमने विशेष पहल की तथा दुनिया के कई मुल्कों से आकर लोगों ने हमारी साईकल योजना का अध्ययन किया। 

नीतीश कुमार ने कहा कि अगर उन्हें फिर मौका मिला तो वह‘सात निश्चय द्वितीय चरण’ के तहत जन कल्याण के कार्यो को आगे बढ़ायेंगे। उन्होंने कहा कि हमने पहले ही कहा है कि हर खेत तक पानी पहुंचाएंगे और इस बार मौका मिलेगा तो निश्चित ही हर खेत तक सिंचाई के लिए पानी पहुंचा देंगे। कुमार ने कहा, ‘‘ कई वृद्ध परिवार में नहीं रह पाते हैं। अगर घर में उनकी इज्जत नहीं हो रही है तो सरकार उनकी इज्जत करेगी और सभी के लिए वृद्धाश्रम का निर्माण करेंगे। कोई बूढ़ी महिला, कोई बुज़ुर्ग भटकने को मजबूर नहीं होगा। ’’ उन्होंने इस संबंध में गरीबों, खास कर महिलाओं की आर्थिक मजबूती के लिये शुरू जीविका समूहों के गठन की योजना का भी जिक्र किया। कुमार ने कोरोना संक्रमण के समय बाहर से राज्य में आने वाले यहां के श्रमिकों को पहुंचायी गई सहायता का भी जिक्र किया और कहा कि यह देश सबका है, सबका अधिकार है कि इस देश में कहीं भी जाकर रहें एवं कमाएं। उन्होंने कहा, ‘‘हम किसी को प्रवासी नहीं मानते।


sOURCE:AgencyNews