विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा ने अब मोर्चों की मजबूती पर किया फोकस


भाजपा ने अब विभिन्न मोर्चों की मजबूती पर फोकस करना शुरू दिया है। मोर्चा के कार्यकारिणी विस्तार को लेकर लंबी मंत्रणा चली और लगभग ज्यादातर नाम फाइनल कर दिए हैं। राज्य में विधानसभा चुनाव के लिए सिर्फ डेढ़ वर्ष बचा होने पर पार्टी प्रांतीय इकाई, मोर्चो के विस्तार के साथ ही जिलों में समन्वय कमेटियां बनाने पर फोकस किया है।


इसके साथ ही निकायों, परिषदों और जेल विजिटर के रूप में भी बड़ी संख्या में कार्यकर्ता एडजस्ट किए जा रहे हैं। इस पूरी प्रक्रिया में पार्टी के एक हजार से ज्यादा कार्यकर्ता एडजस्ट होंगे। इस क्रम में शुक्रवार दोपहर साढ़े बारह बजे प्रांतीय अध्यक्ष बंशीधर भगत के यमुना कॉलोनी स्थित सरकारी आवास पर बैठक शुरू हुई।


अपराह्न 4 बजे तक हर मोर्चा के अध्यक्ष के साथ विस्तार पर मंत्रणा हुई। मोर्चों में पदाधिकारी व सदस्य समेत 40 कार्यकर्ताओं को एडजस्ट किया जाना है। ज्यादातर पदों के लिए पार्टी संगठन के पास पहले से आवेदन आए हुए थे, जिन पर संबंधित कार्यकर्ताओं का मजबूत पक्ष देखते हुए जिम्मेदारी सौंपने पर सहमति बनी। 


महामंत्री राजू भंडारी ने बताया कि मोर्चा के 90% पदाधिकारियों पर सहमति बन चुकी है। श्राद्ध शुरू होने से पहले इनके नाम घोषित कर दिए जाएंगे। बैठक में कुछ अन्य कार्यक्रमों पर भी चर्चा की गई। 


बैठक में प्रांतीय महामंत्री संगठन अजेय कुमार, महामंत्री राजेंद्र भंडारी, कुलदीप कुमार, महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष ऋतु खंडूड़ी, युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष कुंदन लटवाल, अनुसूचित मोर्चा के अंबादत्त आर्य, अनुसूचित जाति मोर्चा के राकेश राणा, ओबीसी मोर्चा के राकेश गिरी और किसान मोर्चा के प्रांतीय अध्यक्ष अनिल चौहान के साथ ही जिलों के प्रभारी मौजूद रहे। 


Source:Agency news