वन अनुसंधान संस्थान की समूह-ग की परीक्षा में फर्जीवाड़ा

 


 

वन अनुसंधान संस्थान की समूह-ग की परीक्षा में फर्जीवाड़ा सामने आया है। इसे लेकर संस्थान के कुलसचिव एसके थमस की तहरीर पर शहर कोतवाली पुलिस ने केस दर्ज किया गया है। शहर कोतवाल रितेश साह ने बताया कि तहरीर के साथ भेजे गए साक्ष्यों की पुलिस जांच कर रही है।उन्होंने बताया कि कुलसचिव थमस की तरफ से लिखित तहरीर कोतवाली में भेजी गई। इसमें कहा कि तीन अक्तूबर को दून में 28 केंद्रों पर शाम चार से छह बजे तक समूह ग, एमटीएस पद की परीक्षा हुई। इसमें एसजीआरआर खुड़बुड़ा सेंटर के ब्लॉक ए में अमित नाम के दो आवेदक पहुंचे। जिनका आधार में नामा, पिता का नाम और पता एक दर्ज था। दोनों की फोटो अलग थी। ऐसे में दोनों को प्रवेश देने में समस्या हुई। वहां तैनात निरीक्षक और केंद्र अधीक्षक ने दोनों के पहचान पत्र देखे। इसके बाद एक अमित का पहचान पत्र फर्जी करार देते हुए उसे सेंटर से वापस भेज दिया। जबकि, दूसरे को प्रवेश दे दिया गया। उससे परीक्षा दिलाते वक्त अंडर टेकिंग भी गई। हालांकि, परीक्षा देते ही जिस अमित को प्रवेश दिया गया वह लापता हो गया। उसका बैंक संस्थान में छूट गया। जिसमें कुछ दस्तावेज मिले। उन दस्तावेजों के साथ इस मामले में फर्जीवाड़े को लेकर शहर कोतवाली पुलिस को तहरीर दी गई। तहरीर पर पुलिस ने केस दर्ज जांच शुरू कर दी है।

SourcesL:hindustansamachar