उत्तराखंड में बार-बार मुख्यमंत्री बदलकर भ्रष्टाचार को छुपाना चाहती है भाजपा: बीडी रतूड़ी

 

 



यूकेडी के संरक्षक व पूर्व अध्यक्ष बीडी रतूड़ी बीजेपी पर राज्य को गर्त की ओर ले जाने का आरोप लगाते हुए कहा है कि बार बार सीएम का चेहरा बदलकर बीजेपी कहीं न कहीं भ्रष्टाचार को छुपाने की कोशिश कर रही है। कचहरी स्थित केन्द्रीय कार्यालय में हुई प्रेसवार्ता में उन्होंने कहा कि स्थिर सरकार न दे पाने के कारण बीजेपी की कार्यशैली संदेह के घेरे में रही हैं। राज्य में स्वास्थ्य सेवाओं की अव्यवस्थाओं की पोल कोरोनाकाल में देख चुके है। राज्य सरकार कोरोना किट तक मरीजों को उपलब्ध नही करा सकी। कुंभ में कोरोना जांच में हुई अनियमिताओं से स्पष्ट होता है कि एक बड़ा घोटाला सरकार कोरोना इलाज व कुंभ में कर चुकी हैं। बार बार मुख्यमंत्री बदलने का ये रवैया जनादेश का सबसे बड़ा अपमान है।उत्तराखंड क्रांति दल भाजपा के भ्रष्टाचार को जनता के बीच जाकर पोल खोलेगा। उक्रांद बाकी अन्य समान्तर और विधारधारा के संगठनों से लगातार बात कर रहा है। सभी को एक मंच पर लाकर 2022 विधानसभा चुनाव में जायेगा। रतूड़ी ने कहा कि दल का द्विवार्षिक महाअधिवेशन जिसमे संगठन का चुनाव किया जाना है। 24 व 25 जुलाई दल के स्थापना दिवस पर देहरादून में होगा। उक्रांद जल, जंगल, जमीन, धारा 371, 73 वां व 74 वां पंचायती राज अधिनियम लागू करके पंचायतों को पूरे अधिकार देना, मूल निवास सन 1980 से पूर्व राज्य निवासी को परिभाषित करना, पर्यटन के सवाल पर दृढ़ है। कहा कि राज्य का पर्यटन चौपट हो गया। स्टे होम बन्द हैं।पर्यटन से जुड़ा रोजगार खत्म हो चुका। सरकार पर्यटन को बढ़ावा देने के लिये मदद दे। जो परिसीमन 2026 में होना है, उसमें पहाड़ की विधानसभा सीटों की संख्या घटकर मैदानी जनपदों से जुड़ जायेगी। यूकेडी ये होने नहीं देगा। जनता को लामबद्ध कर चुनाव में मुद्दा बनाया जाएगा। इस अवसर पर उन्होंने राज्य संघर्ष के पुराने साथी अहमद अली खान को विधिवत रूप से दल में शामिल किया। प्रेस वार्ता में लताफत हुसैन, डीडी शर्मा, जयप्रकाश उपाध्याय व सुनील ध्यानी मौजूद थे।