जनसंख्‍या नीति - कानून बनाने से कुछ नहीं होगा, जागरूकता की जरूरतःनीतीश कुमार

 

 



उत्तर प्रदेश की योगी सरकार द्वारा लाए गए जनसंख्या नियंत्रण कानून को लेकर लगातार सियासत जारी है। तमाम दलों से लेकर विभिन्न संगठनों की ओर से प्रतिक्रिया आ रही है। इसी क्रम में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जनसंख्या नियंत्रण कानून को लेकर साफ कहा कि कानून बनाकर जनसंख्या को नियंत्रित नहीं किया जा सकता है। क्या देश में राष्‍ट्रीय स्‍तर पर जनसंख्‍या नियंत्रण कानून की जरूरत आ गई है, इस बारे में पत्रकारों की ओर से पूछे गए सवाल पर नीतीश कुमार ने कहा कि हर राज्य वह करने के लिए स्वतंत्र है जो वे चाहते हैं। मेरी राय बिल्कुल स्पष्ट है कि केवल कानून बनाने से जनसंख्या नियंत्रण प्राप्त नहीं किया जा सकता ।चीन का उदाहरण देते हुए नीतीश ने कहा कि चाइना ने एक से दो किया और अब दो के बाद क्या हो रहा है। किसी भी देश का हाल-चाल देख लीजिए। सबसे बड़ी चीज है कि महिलाएं पूरे तौर पर पढ़ी रहेंगी तो इतनी जागृति आती है कि अपने आप प्रजनन दर घटेगा। उन्‍होंने कहा कि मेरा मानना है कि 2040 तक यह वृद्धि नहीं रहेगी। हमारी सोच साफ है कि इसे कैसे कम कर सकते हैं। यह बात सभी समुदायों पर लागू होती हैं। यदि महिलाएं पढ़ी-लिखी रहेंगी तो प्रजनन दर में कमी लाई जा सकती है।

We're fully alert (for the potential third wave of COVID). Centre is also on alert mode. We're arranging every single thing including oxygen. Hospitals & officials are ready. All are conscious. We're continuously monitoring the situation: Bihar CM Nitish Kumar