दून में विकराल बनी जलभराव की समस्या,नगर निगम का आपदा कंट्रोल रूम फेल

 


  देहरादून /  मानसून के मद्देनजर नगर निगम ने जलभराव जैसी समस्या को दूर करने के लिए एक माह पूर्व आपदा कंट्रोल रूम तो खोल दिया था, लेकिन उसके बाद अधिकारियों ने शायद सुध लेना भी जरूरी नहीं समझा कि यह काम भी कर रहा है या नहीं। सोमवार को हुई बरसात के कारण शहर में जगह-जगह जलभराव हुआ और लोग सुबह से दोपहर तक नगर निगम कंट्रोल रूम के फोन मिलाते रहे, मगर नंबर नहीं उठा। ऐसे में सवाल उठ रहा कि किसी अनहोनी की स्थिति में जिम्मेदार नगर निगम प्रशासन कैसे राहत पहुंचाएगा।

निगम प्रशासन ने आपदा एवं बाढ़ नियंत्रण कंट्रोल रूम में तीन कर्मचारियों की शिफ्ट में 24 घंटे की ड्यूटी लगाई हुई है। नगर निगम के अनुसार यहां पर भूमि अनुभाग के मनीष कुमार रोजाना सुबह छह बजे से दोपहर दो बजे तक और स्वास्थ्य अनुभाग के अंकित कुमार को दोपहर दो बजे से रात दस बजे तक तैनात किया गया है। रात दस से सुबह छह बजे तक यहां पर पथ प्रकाश अनुभाग के योगेश पैन्यूली की ड्यूटी लगाई गई है।सफाई सुपरवाइजर संजय कुमार, महावीर, दीपक बड़ोनी एवं योगेश कुमार भी कंट्रोल रूम में शिफ्टवार तैनात किए गए हैं। सुबह की पाली में पांच-पांच और रात की पाली में आठ-आठ सफाई कर्मी कंट्रोल रूम में तैनात रखने के आदेश दिए गए थे। इसके अलावा सफाई निरीक्षकों की पूरे हफ्ते की शाम सात बजे से सुबह सात बजे तक की ड्यूटी अलग लगाई गई थी। लेकिन, इसके बाद भी यहां के फोन नंबर नहीं उठ रहे हैं।वार्ड-85 विष्णुपुरम मोथरोवाला निवासी एमएस पसबोला ने बताया कि सोमवार की सुबह बरसात के कारण लेन नंबर-एक पूरी तरह पानी से भर गई। आमजन के घरों तक में पानी घुस गया। इस दौरान सूचना देने के लिए आपदा कंट्रोल रूम का नंबर मिलाया गया, लेकिन घंटों तक फोन नहीं उठा। इसी तरह टर्नर रोड निवासी सुनील कुमार बंसल ने बताया कि उन्होंने भी सुबह 11 बजे के आसपास करीब 10 मर्तबा कंट्रोल रूम का नंबर लगाया, पर कोई रिस्पांस नहीं मिला।

ये हैं कंट्रोल रूम के नंबर

-0135-2652571 और टोल फ्री नंबर-18001804153 के साथ-साथ 9548502630

क्या कर रहे नोडल अधिकारी

कंट्रोल रूम के लिए नगर आयुक्त विनय शंकर पांडेय ने नोडल अधिकारी और सह नोडल अधिकारी भी तैनात किए थे। इनमें सोमवार-मंगलवार को अधिशासी अभियंता अनूप भटनागर को नोडल अधिकारी जबकि अवर अभियंता सहेंद्र नेगी को सह नोडल अधिकारी बनाया गया था। बुधवार-गुरुवार को सहायक नगर आयुक्त विजलदास को नोडल अधिकारी जबकि सहायक अभियंता रजत कोटियाल को सह नोडल अधिकारी बनाया गया। शुक्रवार-शनिवार को सहायक नगर आयुक्त रविंद्र दयाल को नोडल और सहायक अभियंता जय प्रकाश रतूड़ी को सह नोडल अधिकारी जबकि रविवार को सहायक अभियंता वेद प्रकाश बधानी को नोडल व अवर अभियंता प्रेम प्रकाश शर्मा को सह नोडल अधिकारी बनाया गया था। इतने अधिकारी होने के बाद भी जब कंट्रोल रूम के नंबर नहीं उठ रहे हैं तो अधिकारियों की सक्रियता का अंदाजा खुद लगाया जा सकता है। नगर आयुक्त विनय शंकर पांडेय ने बताया कि कंट्रोल रूम के लिए अधिकारियों समेत कर्मचारियों की ड्यूटी आवंटित है। यहां पर 24 घंटे कर्मचारी तैनात किए गए हैं। कंट्रोल रूम का नंबर क्यों नहीं उठाया, इसकी जांच की जाएगी। लापरवाह कार्मिकों पर कार्रवाई की जाएगी।

 

Sources:AmarUjala