मध्य प्रदेश - सिर्फ सात आमों की सुरक्षा में लगे हैं 4 गार्ड और 6 कुत्ते

 

 


मध्य प्रदेश के एक कपल ने ऐसा काम किया है जिसकी चर्चा हर और हो रही है। दरअसल, इन लोगों ने आम की खेती की है। लेकिन अब आप यह सोच रहे होंगे कि आम की खेती करने वालों की चर्चा क्यों हो रही है? दरअसल, मामला यह है कि फलों का राजा आम की रखवाली करने के लिए इन लोगों ने चार गार्ड और छह कुत्तों की विशेष सुरक्षा व्यवस्था रखी है। आम के पेड़ों की संख्या महज दो है और फलों की संख्या 7 यानी कि सिर्फ 7 आम की रखवाली के लिए इन लोगों ने गार्ड और खूंखार कुत्ते तैनात किए हैं।इस आम की खासियत यह है कि इसकी खेती जापान में होती है और इसका नाम मियाज़ाकी है। कपल का कहना है कि उन्हें ट्रेन में एक आदमी ने इसका पौधा दिया था। आम सामान्य आमों की तुलना में अलग है। इसके रूप रंग बिल्कुल अलग है जिसकी वजह से यह खूब लोकप्रिय है। इसकी लोकप्रियता भारत और दक्षिण पूर्व एशिया में बहुत ज्यादा है। कपल का कहना है कि फल का रंग हल्का बैगनी है। हालांकि आम के इस फसल को एक एग ऑफ सन के रूप में जाना जाता है। आम अक्सर लाल रंग का होता है और डायनासोर के अंडे के समान दिखता है।आम की सबसे ज्यादा खासियत यह है कि यह भारत में नहीं पाया जाता है। दुनिया में यह आम सबसे महंगा होता है। कपल का दावा है कि वर्तमान में आम की कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजार में 2.70 लाख रुपए प्रति किलोग्राम है। तभी इस दंपत्ति ने 7 आमों की सुरक्षा के लिए चार सिक्योरिटी गार्ड और छह खूंखार कुत्ते लगा रखे हैं। इस दंपत्ति ने आज से 3 साल पहले जबलपुर में अपने बगीचे में आम के 2 पौधे लगाए थे।दरअसल, दंपत्ति को आम की सही कीमत के बारे में पता नहीं था। पिछले साल चोरों ने बाग से 2 आम चुरा लिए थे। इसी को ध्यान में रखते हुए इस साल इस की सुरक्षा में कड़ी रखी गई है। आम की डाली को भी काटने की कोशिश की गई थी। कपल के मुताबिक वह पेड़ बचाने में कामयाब हुए हैं और इस साल उसकी सुरक्षा के लिए विशेष इंतजाम किया गया है। कपल ने इस आम का नाम दामिनी रखा है।

 

Sources:Prabhashakshi samachar