24 घंटे में 2 लाख से कम भारत में कोरोना वायरस के मामले वहीं 3,511 लोगों की हुई मौत

देश में पिछले 24 घंटों में 1,96,427 नए कोरोनो वायरस मामले और 3,511 मौतें दर्ज कीं। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक सबसे ज्यादा मामले दर्ज करने वाले पांच राज्यों में तमिलनाडु में 34,867 मामले हैं, इसके बाद कर्नाटक में 25,311 मामले, महाराष्ट्र में 22,122 मामले, पश्चिम बंगाल में 17,883 मामले और केरल में 17,821 मामले हैं। जबकि नए मामलों में से 60,07 फीसद इन पांच राज्यों से सामने आए हैं। नए मामलों के 17,75 फीसद के लिए अकेले तमिलनाडु जिम्मेदार था। देश में अभी 25,86,782 लोगों का कोरोना वायरस संक्रमण का इलाज चल रहा है। एक अधिकारी ने बताया कि तिहाड़ जेल के 37 वर्षीय एक विचाराधीन कैदी की यहां के एक अस्पताल में सीओवीआईडी ​​.19 के कारण मौत हो गई। मृतक की पहचान लाला के रूप में हुई है। उसे सेंट्रल जेल नंबर 8/9 तिहाड़ में रखा गया था। एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि लाला ने 3 मई को कोरोनावायरस के लिए सकारात्मक परीक्षण किया था और अगले दिन उन्हें बुरारी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। महाराष्ट्र में सोमवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 22,122 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की कुल संख्या 56,02,019 हो गई। इसके अलावा 361 और रोगियों की मौत के साथ ही मृतकों की तादाद89,212 तक पहुंच गई है। स्वास्थ्य विभाग ने यह जानकारी दी। संक्रमण से उबरने वालों की संख्या नए रोगियों की तुलना में अधिक रही। स्वास्थ्य विभाग के एक बयान के अनुसार दिनभर में 42,320 लोगों को छुट्टी दी गई जिसके साथ ही ठीक हो चुके लोगों की कुल संख्या बढ़कर 51,82,592 हो गई। पश्चिम बंगाल में कल कोरोना वायरस संक्रमण के 17,883 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 12,84,973 हो गई। इसके अलावा 153 और रोगियों की मौत के साथ ही मृतकों की तादाद 14,517 तक पहुंच गई है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी स्वास्थ्य बुलेटिन में कहा गया है कि राज्य में आज 19,670 लोग संक्रमण से उबरे हैं। उपचाराधीन रोगियों की संख्या 1,28,585है।बीते 24 घंटे के दौरान 66,288 नमूनों की जांच की गई। स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि राज्य में म्यूकरमाइकोसिस या ब्लैक फंगस से अब तक दो लोगों की मौत हुई है जबकि 10 रोगियों का इलाज चल रहा है। अधिकारी ने कहा कि 12 में से छह रोगी या तो कोविड.19 से पीड़ित हैं या इससे उबर चुके हैं। सभी अनियंत्रित मधुमेह का शिकार रहे हैं। Sources:Agency News