कंधार हाईजैक में आतंकियों के हाथों खुद को सौंपने को तैयार थीं ममता बनर्जी: यशवंत सिन्हा

  



 दशकों तक बीजेपी का हिस्सा रहे पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा शनिवार को तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो गए। पश्चिम बंगाल चुनाव से ठीक पहले पार्टी में शामिल होने वाले सिन्हा ने तृणमूल कांग्रेस की मुखिया ममता बनर्जी की जमकर तारीफ की और कहा कि वह हमेशा से फाइटर रही हैं। यही नहीं कंधार विमान अपहरण कांड का जिक्र करते हुए सिन्हा ने कहा कि उस वक्त ममता बनर्जी ने यात्रियों को बचाने के लिए खुद को आतंकियों के समक्ष पेश करने की बात कही थी। यशवंत सिन्हा ने कहा, 'ममता बनर्जी और हमने मिलकर अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में काम किया था। ममता जी शुरू से ही एक फाइटर रही हैं।' 

सिन्हा ने कहा, 'आज मैं आपको बताना चाहता हूं कि जब इंडियन एयरलाइंस के हवाई जहाज को अपहरण कर लिया गया था और आतंकी उसे कंधार ले गए थे। तब कैबिनेट की मीटिंग हो रही थी और इस दौरान ममता बनर्जी ने कहा था कि मैं खुद बंधक बनकर आतंकियों के समक्ष जाऊंगी। बस यही शर्त होगी कि आतंकी यात्रियों को छोड़ दें। वह देश के लिए हर कुर्बानी देने के लिए तैयार थीं।' यशवंत सिन्हा ने टीएमसी में शामिल होने के मौके पर कहा कि ममता बनर्जी पर हमले के बाद उन्होंने खुद के उनके साथ जाने का फैसला लिया था। अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में यशवंत सिन्हा वित्त मंत्री और विदेश मंत्री रहे थे।

यशवंत सिन्हा बीजेपी के दिग्गज नेताओं में से एक रहे थे, लेकिन 2018 में उन्होंने मौजूदा नेतृत्व से मतभेदों के चलते पार्टी छोड़ दी थी। 2014 के बाद से ही वह अकसर पीएम नरेंद्र मोदी और बीजेपी की नीतियों की आलोचना करते दिखते थे। टीएमसी में शामिल होने के बाद यवशंत सिन्हा ने कहा कि 'देश अजीब परिस्थिति से गुजर रहा है, हमारे मूल्य और सिद्धांत खतरे में हैं। लोकतंत्र की मजबूती संस्थाओ में निहित है और सभी संस्थाओं को व्यवस्थागत तरीके से कमजोर किया जा रहा है। न्यायपालिका समेत ये सभी संस्थान अब कमजोर हो गए हैं। उन्होंने न्यूज एजेंसी एएनआई से बात करते हुए यह आरोप लगाया।

यशवंत ने पूछा, आज बीजेपी के साथ कौन है: पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि अटलजी के समय में बीजेपी आम सहमति में भरोसा करती थी, लेकिन आज की सरकार कुचलने और जीतने में भरोसा करती है। अकाली, बीजेडी ने बीजेपी का साथ छोड़ दिया, आज बीजेपी के साथ कौन है। टीएमसी में शामिल होने से पहले यशवंत सिन्हा ने बंगाल में ममता बनर्जी पर हुए कथित हमले को लेकर अपनी पूर्व पार्टी बीजेपी की आलोचना की थी। उन्होंने कहा था कि बीजेपी को शर्म आनी चाहिए, हमले के घायल हुईं ममता बनर्जी के प्रति सहानुभूति रखने के बजाय मजाक उड़ाया जा रहा है। यशवंत सिन्हा ने बुधवार को ट्वीट करते हुए कहा था कि बंगाल की लड़ाई भारत की लड़ाई है। बंगाल के मतदाता इस चुनाव में भारत के भविष्य के लिए मतदान करेंगे।


Sources:Hindustan