किसानों के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस करने वाले 'मास्क मैन' का असली चेहरा आया सामने, वायरल वीडियो में किया बड़ा खुलासा

   

दिल्ली की सीमाओं पर नए कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसान नेताओं के साथ शुक्रवार रात को एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करने वाले अज्ञात 'मास्क मैन' का चेहरा अब सबके सामने आ गया है।

'मास्क मैन' ने अपना नाम योगेश सिंह बताते हुए अपने एक नए वायरल वीडियो में कहा है कि वह किसानों के द्वारा दी गई एक स्क्रिप्ट पढ़ रहा था। हालांकि, अभी पुलिस ने अभी वीडियो के बारे में कुछ नहीं बताया है और आज दोपहर को इस पर जानकारी देंगे।

मीडिया से बात करते हुए इस संदिग्ध आदमी ने कहा, 'हमने 26 जनवरी को किसानों को ट्रैक्टर रैली के लिए आगे बढ़ने से रोकने की योजना बनाई थी और अगर वे नहीं रुकते तो हम पहले हवा में फायरिंग करते और हमारे दूसरे सहयोगी पीछे से गोली चलाते ताकि वहां मौजूद पुलिस वालों को यह लगता कि उनपर किसान गोली चला रहे हैं। हम 10 लोगों की टीम थे, जिनमें से 2 महिलाएं हैं।'

इसके बाद संदिग्ध ने कहा, 'हमारी टीम को यहां दो जगहों पर हथियार दिए गए थे। 26 जनवरी के लिए हमने योजना बनाई थी कि टीम के आधे सदस्य पुलिस की वर्दी पहने रहेंगे ताकि किसानों के समूहों को तितर-बितर कर सकें। हमें उन चार लोगों की तस्वीरें भी दी गई थीं, जिन्हें गोली मारनी थी। हमें निर्देश देने वाला शख्स एक पुलिसवाला है।'

उसने आगे कहा, 'हम पैसों के लिए काम कर रहे थे। अभी कुछ और लोग हैं जो इस योजना में शामिल थे और जिन्हें पकड़ना बाकी है। मैं यह निवेदन करूंगा कि हमारे परिवारवालों को इसकी खबर न हो। हमें माहौल खराब करने के लिए 10-10 हजार रुपये दिए गए थे।'

संदिग्ध ने इस बात पर जोर दिया कि 26 जनवरी को यहां माहौल बिगड़ने की 100 प्रतिशत आशंका है। उसने कहा, 'मैंने यहां माहौल खराब करने आए बाकी लोगों की पहचान भी बता दी है। उन्होंने बूट, पगड़ी और जीन्स पहनी होगी। जो लोग 26 जनवरी को यहां बर्बादी मचाने आएंगे उन्होंने पुलिस की वर्दी पहनी होगी।' बाद में इस शख्स को पुलिस के हवाले कर दिया गया।

Sources:Hindusatan Samachar