हरिद्वार कुंभ के लिए चलेंगी 200 रोडवेज बसें, बनाए जा रहे छह अस्थायी बस स्टैंड



  हरिद्वार महाकुंभ में विभिन्न राज्यों के लिए परिवहन निगम 200 बसें चलाएगा। इसकी तैयारी शुरू कर दी गई है। हरिद्वार कुंभ के सहायक महाप्रबंधक को भी व्यवस्थाएं दुरुस्त करने की जिम्मेदारी सौंप दी गई है। राज्यों से आने वाले तीर्थयात्रियों की संख्या पर ही बसों के फेरे निर्भर करेंगे। माना जा रहा है कि लंबे समय से घाटे में चल रहे परिवहन निगम के लिए कुंभ संजीवनी लेकर आएगा।महाप्रबंधक तकनीकी एवं संचालन दीपक जैन ने बताया कि कुंभ के लिए फिलहाल 200 रोडवेज बसें चलाने का प्रस्ताव तैयार किया गया है। इन बसों के संचालन के लिए हरिद्वार में छह अस्थायी बस स्टैंड बनाए जाएंगे। इनमें ऋषिकुल में 2, दक्ष मंदिर के पास, धीरवाली, बैरागी कैंप और गौरी शंकर में एक-एक बस स्टैंड बनाया जाएगा। इनका काम 15 फरवरी तक पूरा हो जाएगा।उन्होंने बताया कि जैसे-जैसे भीड़ बढ़ती जाएगी, वैसे-वैसे बसों की संख्या बढ़ती जाएगी। महाकुंभ में उत्तर प्रदेश, दिल्ली, हरियाणा, पंजाब, राजस्थान, चंडीगढ़, हिमाचल प्रदेश आदि राज्यों के लिए बसें चलाने की योजना है।


दिल्ली रूट पर बढ़ेंगी सीएनजी बसें

परिवहन निगम ने दून से दिल्ली रूट पर संचालन के लिए इंद्रप्रस्थ गैस लिमिटेड से पांच बसें लीज पर ली हैं। इन बसों के संचालन से परिवहन निगम को प्रति किलोमीटर छह रुपये की बचत हो रही है। निगम के महाप्रबंधक संचालन दीपक जैन ने बताया कि इन बसों की संख्या बढ़ाने पर काम किया जा रहा है। जल्द ही कुछ और बसें लीज पर लेने की योजना है।


बसेगा महामंडलेश्वर नगर

आगामी कुंभ में गौरीशंकर द्वीप के निकट महामंडलेश्वर नगर बसाया जाएगा। मेला अधिकारी दीपक रावत ने मेला और विभागीय अधिकारियों के साथ गौरीशंकर द्वीप का निरीक्षण किया। मेलाधिकारी ने कहा कि गंगा तट पर महाकुंभ और माइथोलॉजी की थीम से संबंधित सैंड आर्ट की प्रतियोगिता कराई जाएंगी। 



Sources:Agency News